Translate

Wednesday, July 29, 2020

फेलियर को सक्सेस में बदलना है तो इनसे सीखें।

Failure_Success

बात किसी एग्जाम की हो,किसी प्रोजेक्ट की या बिजनेस वेंचर की, फेल होने पर निराश और हताश होना आम है। लेकिन अगर आप हिम्मत हारे बिना वो करेंगे जो आपको पसंद है और उसमें बेहतरीन प्रदर्शन कर दिखाएंगे तो सफलता के नए रास्ते खुलेंगे। दुनिया में ऐसे कई सक्सेसफुल लोग हैं जिन्होंने सफल होने से पहले कई बार फेलियर का सामना किया। अपने अनुभव से वे इस बात में बहुत यकीन रखते हैं कि फेलियर आपको सफलता के लिए तैयार करता है इसलिए इससे डरें नहीं बल्कि सामना करें। फेलियर को गले लगाइए क्योंकि किसी चीज में फेल हुए बिना जीवन बिताना संभव ही नहीं है। कुछ ऐसी ही सोच के साथ इन सफल पर्सनैलिटीज ने भी अपने स्कूल स्कोर को तवज्जो न देकर अपने पैशन को पोषित किया और पूरी दुनिया में अपनी पहचान भी बनाई।

वयस्क होने के बाद भी पढ़ नहीं पाते थे टॉम

हॉलीवुड लीजेंड टॉज क्रूज की माने तो वयस्क होने तक वे पढ़ नहीं पाते थे। इसकी वजह डिस्लेकिस्या थी। वे यह भी  बताते है कि उन्होंने 18 स्कूल बदले। एक समय ऐसा भी था जब उन्होंने प्रीस्ट बनने के बारे में सोचा लेकिन एक टीचर के प्रोत्साहन पर  हाई स्कूल के प्रॉडक्शन में ऑडिशन दिया और लीड रोल अपने नाम कर लिया। यही से उन्होने एक्टिंग में अपने पैशन को पहचाना और इसे कॅरिअर के तौर पर अपनाया। मिशन इम्पेसिबल और टॉप गैन जैसी फिल्मों में काम कर चुके टॉम की नेट वर्थ इनकम आज 455  मिलियन स्टलिंग पाउंड्स  है।

 

स्कूल में बेवकूफ समझे जाते थे रिचर्ड ब्रैनसन

रिचर्ड ब्रैनसन बताते हैं कि उन्हें स्कूल में बेवकूफ स्टूडेंट के तौर पर देखा जाता था। डिलेक्सिया से ग्रस्त रिचर्ड को स्कूल में लर्निंग में दिक़्क़तों का सामना करना पड़ा। आखिरकार 16 की उम्र आते-आते उन्होंने स्कूल छोड़ दिया और एक स्टूडेंट मैग्जीन की शुरुआत की। मैग्जीन को सपोर्ट करने के लिए उन्होंने मेल के जरिए रिकॉर्ड बेचने भी शुरू किए। मैग्जीन तो सफल न हो सकी लेकिन रिकॉर्ड का बिजनेस सफल हुआ और पूरी दुनिया में पहचाने जाने वाले कंपनी वर्जिन रिकार्ड्स में तब्दील हो गया। आज 400 कंपनिया इसमें शामिल है।

 

होमवर्क नहीं, सिंगिंग पसंद थी रिहाना को

रिहाना को स्कूल जाना पसंद नहीं था।उनका मानना है कि जब गा सकते है, खेल सकते है या होमवर्क को छोड़कर कुछ कुछ भी दूसरा काम कर सकते हैं तो स्कूल जाना आपको कष्टदायक लग सकता है। रीरी के नाम से मशहूर इस सिंगर ने अपनी अपनी रिकॉर्डिंग डील 16 की उम्र में साइन की और म्यूजिक इंडस्ट्री में  जगह बनाने में फोकस करने के लिए स्कूल ड्रॉप कर दिया। अब तक रिहाना अम्ब्रेला , डायमंड और रुड बॉय जैसे कई हिट स्टूडियो एल्बम्स रिलीज कर चुकी है। हाल की एक ब्यूटी ब्रांड लॉन्च कर सफल बिज़नेस वुमन भी बनी। 


5000 बार फेल हुए लेकिन हारे नहीं डायसन

किसी एग्जाम या किसी अन्य काम में एक  बार फेल होना काफी निराशाजनक होता है। अब इसे आप 5126 से गुणा करें ओर सोचें। यह उन फेलियर्स का नंबर है जिनका सामना इनवेंटर व आंत्रप्रेन्योर सर जेम्स डायसन ने अपने 15 साल के कॅरिअर  में किया। डायसन मानते हैं कि ऐसे कई मौके आते हैं जब एक इनवेंटर निराश होकर हार मान सकता है लेकिन मुझे मेरे हर फेलियर ने सक्सेस के पास पहुंचाया। आज उनका तैयार किया बैगलेस वैक्यूम क्लीनर अमेरिका में बेस्ट-सेलर है और आज  उनकी नेटवर्क 4.5 बिलियन डॉलर के पार है।

 

रैपर (रैप सिंगर) बनने का सपना था तो पढ़ाई छोड़ी एमिनेम ने

एमिनेम अपने फेलियर को लेकर कई बार खुलकर बात कर चुके हैं। वे बताते है कि नौवीं क्लास में तीन बार फेल हुए और अंततः रैप सिंगर बनने के अपने सपने को पूरा करने की चाह में  वे स्कूल की पढ़ाई पर फोकस नहीं कर पाए इसके चलते उन्होंने 17 की उम्र  में स्कूल ड्रॉप कर दिया।  स्कूल छोड़ने के बाद एमिनेम ने इंडस्ट्री में पहचान बनने के बनाने लिए कड़ी मेहनत की। इसी मेहनत के चलते आज उनकी नेटवर्थ की बात करें तो यह 167 मिलियन स्टलिंग पाउंड के करीब है। 


No comments:

Post a Comment

गरीब,लावारिस व असहायों का मसीहा - मोक्ष संस्थापक श्री आशीष ठाकुर । (Part-01)

गरीब,लावारिस व असहाय लोगों का मसीहा - मोक्ष संस्थापक श्री आशीष ठाकुर । छू ले आसमां जमीन की तलाश ना कर , जी ले जिंदगी ख़ुशी की तलाश ना कर , ...