Translate

Thursday, April 30, 2020

क्या वास्तव में एलिअन्स और उड़नतस्तरी यूएफओ का अस्तित्व है ? पेंटागन ने जारी किये वीडियो देखे।


उड़नतश्तरी_एलियन_एरिया-51
क्या वास्तव में एलिअन्स और उड़नतस्तरी यूएफओ का अस्तित्व है ?

अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने लोगो के भ्रम  को दूर करने के लिए 27 अप्रैल 2020, दिन सोमवार  को 3 वीडियो जारी किये है जिसे अमेरिकी एयरफोर्स ने अपनी एयरफोर्स पायलटों की ट्रेनिंग के दौरान 2004 एवं 2015 में अपने प्लेन के कमरे में कैप्चर किया था। जिसमे एक अनजान सी चीज़ आसमान से पृथ्वी की और तेज़ी से आती हुयी दिखाई देती है जोकि उनके जेट विमान से काफी दूरी से जाती हुयी दिखाई देती है जिसे रिकॉर्ड किया गया है।

दोस्तों जब भी एलिअन्स यूएफओ की बात होती है उसके बारे में जानने की उत्सुकता मन में जोरो से उठने लगती है , हम ब्रम्हांड के बारे में पल भर के बारे में सब कुछ जान लेना चाहते है परन्तु ब्रम्हांड की सीमाएं क्षेत्र अनंत है इसमें असंख्य तारामंडल जिसमे कई बड़े गृह जैसे बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, यूरेनस , नेपच्यून और छोटे गृह है और असंख्य  तारे ,चन्द्रमा ,सूर्य , उल्कापिंड है।

यह विषय हमेशा से ही स्टूडेंट और आकाशगंगा को जानने वालो के लिए दिलचस्प रहा है। एलिअन्स को लेकर हॉलीवुड और बॉलीबुड दोनों में बहुत सी फिल्म आती रहती है जिससे रोमांच और जगता है यह ऐसा क्षेत्र है जिसमें अंदर जाने से अभिलाषा कभी ख़त्म नहीं होती अपितु बढ़ती जाती है।
कहा तो ऐसा भी जाता रहा है की एलियन्स हमारे बीच में रह रहे है जैसा की आपने हॉलीवुड फिल्म "मैन इन ब्लैक" में देखा होगा। 

अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने यह वीडियो अभी क्यों जारी किया क्या सिर्फ भ्रम दूर करने के लिए या लोगो को डराने के लिए की एलियंस हमारे बीच है जबकि अभी  दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है और प्रकृति का कहर यही नहीं रुकता देश में गर्मी के मौसम में बारिश का आना ओले गिरना वो भी बड़े बड़े , भूकंप आना तो कभी विशालकाय उल्कापिंड का पृथ्वी के बहुत निकट से गुजरना।
इसके पहले देश के कई राज्यों में बाढ़ और तूफान से जिंदगी अस्त-वस्त थी कभी खाली समय में सोचे प्रकृति बचाये पेड़ लगाए , जंगल काटने से बचाये तभी जीवन संभव है।

खैर हम बात कर रहे थे एलिअन्स और यूएफओ की, तो जब इसका पता चला तो इसकी हकीकत सामने लेन के लिए एक प्रोग्राम 2007 में  चालू किया गया जिसका नाम दिया गया एडवांस एयरोस्पेस इंडेंटिफिकेशन , परन्तु बहुत खोजबीन के बाद कुछ न मिलने पर इस प्रोग्राम को 2012 में बंद कर दिया गया। इस प्रोग्राम के हेड रहे लुई एलिजोंड़ो के अनुसार अभी इसकी और छानबीन करने की जरुरत है।

यूएफओ उड़नतस्तरी क्या है ?

एक अज्ञात उड़ान वस्तु (अनडिफाइन्ड फ्लाइंग ऑब्जेक्ट ) (यूएफओ):- कोई भी अज्ञात हवाई घटना है जिसे तुरंत पहचाना नहीं जा सकता है। अधिकांश यूएफओ को पारंपरिक वस्तुओं या घटना के रूप में जांच पर पहचाना जाता है। इस शब्द का व्यापक रूप से अलौकिक अंतरिक्ष यान का  दावा या पहचान  की गई टिप्पणियों के लिए उपयोग किया जाता है।
शब्द "यूएफओ" (या "यूएफओबी") को 1953 में संयुक्त राज्य वायु सेना (यूएसएएफ) द्वारा ऐसी सभी रिपोर्टों के लिए कैच-ऑल के रूप में काम करने के लिए गढ़ा गया था।
ड्रेक समीकरण ब्रह्मांड में कहीं और बुद्धिमान जीवन के अस्तित्व के बारे में अनुमान लगाता है।
वैज्ञानिकों ने डीप स्पेस से एक मिस्टीरियस रिपीटिंग रेडियो सिग्नल की खोज की थी। वर्ष  15 अगस्त 1977 में सबसे पहले आकाश से एक अज्ञात रेडियो सिग्नल मिला प्राप्त हुआ था।
वैज्ञानिकों ने बाहरी अंतरिक्ष से आ रहे रिपीटेड  'रहस्यमय संकेतों' प्राप्त किये  और वे नहीं जानते कि वे कहां से आ रहे हैं। FRB के स्रोत का पता लगाना मुश्किल है,  विज्ञान समाचार वेबसाइट Phys.org के अनुसार, 2007 के बाद से केवल 10 ऐसे रिपीटेड संकेतों को पहचाना गया है।
वैज्ञानिकों ने कहा, "एक रिपिटेड एफआरबी स्रोत में 16.35 दिन की आवधिकता  सिग्नल प्राप्त हुए है जिसकी  खोज इस मिस्ट्री  की प्रकृति का एक महत्वपूर्ण सुराग है।"

परन्तु कुछ बातें जो जानना जरुरी है ;

  •  परमाणु साइंटिस्ट फ्रीडमन ने रोजवेल यूएफओ दुर्घटना की जाँच की थी और वे अपनी   इस बात पर कायम थे की एलियंस हमारे बीच है। फ्रीडमन का मई 2019 में निधन हो   गया।
  •  नवादा के एरिया 51 के बारे में कहा जाता है कि यह वही स्थान है जहाँ एलियंस आये।
  •  अमेरिकी सरकार ने तो पहले नवादा के एरिया 51 के अस्तित्व को नाकारा की यह है ही   नहीं परन्तु बाद में इसे स्वीकार कर लिया।
  •  नवादा के एरिया 51 के आसपास रहने वाले लोगो का कहना है कि यहाँ उड़नतस्तरी   यूएफओ को देखा गया था।

सोचे ये वीडियो पेंटागन ने क्यों जारी किया ? क्या अमेरिका हमसे कुछ छुपा रहा है ?

एलियंस में विश्वास करने के लिए 4 वैज्ञानिक कारण

क्या एलियंस असली हैं? हम निश्चित रूप से नहीं जानते, लेकिन हम विश्वास करना चाहते हैं।
प्रसिद्ध विज्ञान लेखक आर्थर सी क्लार्क ने एक बार कहा था, "दो संभावनाएं मौजूद हैं: या तो हम ब्रह्मांड में अकेले हैं या हम नहीं हैं। दोनों समान रूप से भयानक हैं।" विज्ञान में कुछ महान दिमागों से कई खोजें और सिद्धांत इस संभावना की ओर इशारा करते हैं कि ब्रह्मांड में हमसे परे कुछ है, इसलिए एक बहुत अच्छा मौका है कि हमारे पास ईथर में कहीं पड़ोसी हैं। सबूत पर गौर कीजिए।

1. एक्स्ट्रा-टेरेस्ट्रियल इंटेलिजेंस (SETI) इंस्टीट्यूट की खोज कार्ल सगन और जिल टार्टर द्वारा स्थापित की गई थी, जो दो खगोलविदों का मानना ​​है कि हमारे से अधिक जीवन के बीच का अंतर है।
SETI का मिशन "ब्रह्मांड में जीवन की उत्पत्ति और प्रकृति और बुद्धि के विकास का पता लगाना, समझना और व्याख्या करना है।" संस्थान नासा और नेशनल साइंस फाउंडेशन (NSF) के साथ पूल संसाधनों के लिए एक अनुसंधान ठेकेदार के रूप में काम करता है और अन्य ग्रहों पर बुद्धिमान जीवन की संभावना का पता लगाता है।
एक संपूर्ण वैज्ञानिक संगठन जो ब्रह्मांड में अन्य बुद्धिमान जीवन खोजने के लिए वास्तव में मौजूद है।

2. 2007 में, रक्षा विभाग (DoD) ने "अंतरिक्ष से संबंधित घटनाओं का अध्ययन करने के लिए उन्नत एयरोस्पेस खतरा पहचान कार्यक्रम (AATIP) नामक एक कार्यक्रम बनाया, जिसे आसानी से समझाया नहीं जा सकता है, जिसमें आमतौर पर उच्च गति, अज्ञात विमान की उपस्थिति शामिल होती है।" प्रति न्यूयॉर्क पत्रिका के अनुसार।

गुप्त कार्यक्रम की अध्यक्षता सैन्य खुफिया अधिकारी लुइस एलैकोंडो ने की, जिन्होंने यूएफओ मुठभेड़ों की रिपोर्ट की जांच करने की मांग की। एक दशक बाद, एलेगोंडो ने पेंटागन में काम करना छोड़ दिया और न्यूयॉर्क टाइम्स को एएटीआईपी के अस्तित्व की पुष्टि की।

3. एक नेवी जेट का एक UFO से सामना करने का फुटेज  सामने आया है जो 2004 में कैप्चर किया गया था और 2018 में जारी किया गया था। वीडियो में पायलटों को उत्साहपूर्वक यह पूछते हुए सुना जा सकता है, "वह क्या चीज है?" जितनी तेजी से गतिमान वस्तु स्क्रीन पर कुछ क्षणों के लिए होती है।
कमांडर डेविड फ्रावोर और लेफ्टिनेंट कमांडर जिम सलाईट सैन डिएगो के तट पर प्रशांत से अधिक एक प्रशिक्षण मिशन पर थे जब उन्होंने एक यूएफओ देखा जो "40 फीट लंबा और आकार में अंडाकार था।"
फ्रावोर ने न्यूयॉर्क टाइम्स को बताया कि वस्तु "गलत तरीके से इधर-उधर कूदना,  तरंग में गड़बड़ी रहना लेकिन किसी विशिष्ट दिशा में नहीं बढ़ना है।" जब फ्रावोर ने यूएफओ को करीब से देखने की कोशिश की, तो यह उस गति से दूर चला गया, जिसकी पसंद उसने कभी नहीं देखी थी।
शिल्प को कभी पहचाना नहीं गया और फ़्रावर ने जोर देकर कहा कि उसने किसी भी तरह के पंख या रोटर नहीं देखे, जिससे यह और अधिक प्रभावशाली हो गया कि वह अपने एफ -18 हॉर्नेट जेट को पीछे छोड़ सके।

4. नासा ने हाल ही में पुष्टि की है कि एक्सोप्लैनेट की संख्या हजारों में है और हम उस आंकड़े को केवल बढ़ने की उम्मीद कर सकते हैं क्योंकि हम प्रौद्योगिकी में सुधार करते हैं जो अंतरिक्ष के निचले क्षेत्रों में जाने में सक्षम है।
इसका मतलब है कि ऐसे हजारों ज्ञात ग्रह हैं जिनकी लंबाई का पता नहीं चला है और कई और अधिक प्रतीक्षित खोज की जा सकती हैं जिनमें जीवन को बनाए रखने की क्षमता के साथ वातावरण शामिल हो सकता है।
कौन कहता है कि एक (या एकाधिक) एक्सोप्लैनेट पहले से ही बुद्धिमान अतिरिक्त-स्थलीय प्राणियों एलियंस के घर नहीं हैं?

अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन द्वारा उड़नतस्तरी UFO का जारी वीडियो देखें  : ⇓⇓



Monday, April 27, 2020

स्पेस स्टेशन या एस्ट्रोनॉट का अंतरिक्ष में घर !

International_Space_Station_Astronauts
स्पेस स्टेशन या एस्ट्रोनॉट का अंतरिक्ष में घर

साइंस और खासतौर पर यह स्टेशन हमेशा दिलचस्प विषय रहा है।भौतिक विज्ञान , अंतरिक्ष विज्ञान (स्पेस साइंस) और स्पेस में रूचि रखने वालो  लिए यह  रोमांचक कर देने वाला है। अंतरिक्ष में बने इस स्पेस स्टेशन को एस्ट्रोनॉट का घर भी कहते है जहाँ वे कई कई दिनों तक शोध करते है।

स्पेस स्टेशन क्या है ?

स्पेस स्टेशन एक स्पेसक्राफ्ट होता है, जिसमे अंतरिक्ष यात्री (एस्ट्रोनॉट) रहकर कई तरह के प्रयोग करते रहते है। यह पृथ्वी की निचली कक्षा में रहकर चक्कर लगता रहता है। यह लम्बे समय तक स्पेस में रहता  है और इससे दूसरा स्पेसयान भी जुड़ सकता है। इसे आप अपने नग्न आँखों से भी देख सकते है।

एस्ट्रोनॉट क्या है ?

अंतरिक्ष यात्रियों को एस्ट्रोनॉट कहते है जो अंतरिक्ष में बने स्पेस स्टेशन पर रहते है और वहां रिसर्च शोध करते है।
गगनयान मिशन के तहत भारत भी अंतरिक्ष में अपने एस्ट्रोनॉट भेजना का प्रोजेक्ट शुरू कर चूका है जिसके तहत रूस में भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों के तौर पर प्रशिक्षण चल  रहा है।
हालाँकि भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री एस्ट्रोनॉट कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स भी इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS ) में कार्य कर चुकी है जोकि अमेरिकी स्पेस रिसर्च सेंटर नासा में कार्ययत थी।

अभी अंतरिक्ष में दो स्पेस स्टेशन है। इनमे से एक  इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS ) है जो 05 स्पेस एजेंसियो के बीच जॉइंट प्रोजेक्ट है नासा (अमेरिका) , रॉसकॉमास (रूस) , एसा (यूरोप), CSA (कनाडा) और जाक्सा (जापान) के सहयोग से चलाया जा रहा है, इसे ही कहते है। दूसरा स्पेस स्टेशन चीन का है जिसका नाम तिआनगोंग -2 है।

भारत भी गगनयान मिशन के लिए 4 अंतरिक्ष यात्री (एस्ट्रोनॉट) अंतरिक्ष में भेज रहा है जिनकी ट्रेनिंग रूस में चल रही है।  अभी भारत का कोई स्पेस स्टेशन नहीं है , गगनयान मिशन के बाद भारत भी स्पेस स्टेशन के प्रोग्राम पर फोकस करेगा।
 इंडियन स्पेस एजेंसी इसरो ने भी 2029 तक अपना स्पेस स्टेशन स्थापित करने का लक्ष्य रखा है।इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS ) सबसे लोकप्रिय स्पेस स्टेशन में से एक है इसे 1998 में अंतरिक्ष में स्थापित किया गया था।

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS ) के 62 वें अभियान के तहत तीन एस्ट्रोनॉट 17 अप्रैल 2020, दिन शुक्रवार को सुबह पृथ्वी पर उतरे। नासा के जेसिका मीर ,एंड्र्यू मॉर्गन और रुसी एजेंसी रॉसकॉमास के ओलेग स्क्रिपोचका 200 से ज्यादा दिनों तक स्पेस में रहे। एक महीने के मेडिकल ऑब्जरवेशन के बाद इनका कोरोना टेस्ट भी होगा।

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS ) पर 200 से ज्यादा दिन बिताने के बाद रूस का सोयूज यान तीनो अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर 17 अप्रैल 2020, दिन शुक्रवार की सुबह कज़ाकिस्तान के देझेजकजान इलाके में उतरा।

 स्पेस एक्सपर्ट कहते है ही स्पेस स्टेशन मुख्य रूप से साइंटिफिक रिचार्ज के लिए होते है।  यह मुख्यतः पृथ्वी से 400 किमी की हाइट पर स्थापित किये जाते है , यहाँ पर यह लगातार पृथ्वी के चक्कर लगाते रहते हैऔर यह लगभग 92 मिनट में पृथ्वी का चक्कर लगाता है और प्रति दिन 15.5 परिक्रमा पूरी करता है। इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन की बात करे तो इसके स्पीड 28 हज़ार किमी प्रति घंटा है और इसका वजन 4 लाख किलो है। इसका आकर फुटबाल ग्राउंड के लगभग जितना बड़ा है।

क्या आपको पता है स्पेस स्टेशन को लॉन्चिंग के बाद अंतरिक्ष में ही तैयार किया जाता है और इसके रिपेयर & मेन्टेन्स का कार्य चलता रहता है और संभावित  भविष्य के मिशन  चंद्रमा, मंगल और क्षुद्रग्रहों (स्टोरॉइड ) आदि के लिए  लौ अर्थ ऑर्बिट में आधार बनाना है ।
एक अंतरिक्ष यात्री (एस्ट्रोनॉट) को कम से कम 6 महीने अंतरिक्ष में रहना पड़ता है।

आईएसएस एक सूक्ष्म गुरुत्व और अंतरिक्ष पर्यावरण अनुसंधान प्रयोगशाला के रूप में कार्य करता है जिसमें चालक दल के सदस्य (क्रू मेंबर्स ) जीव विज्ञान, मानव जीव विज्ञान, भौतिकी, खगोल विज्ञान, मौसम विज्ञान और अन्य क्षेत्रों में प्रयोग करते हैं।चंद्रमा और मंगल ग्रह के मिशन के लिए आवश्यक अंतरिक्ष यान प्रणालियों और उपकरणों के परीक्षण के लिए स्पेस स्टेशन अनुकूल है।

स्टेशन को दो वर्गों में विभाजित किया गया है, रूसी कक्षीय खंड (आरओएस), जो रूस द्वारा संचालित है, और संयुक्त राज्य अमेरिका कक्षीय खंड (यूएसओएस), जो कई देशों द्वारा साझा किया जाता है। Roscosmos ने 2024 तक ISS के माध्यम से निरंतर संचालन का समर्थन किया है, लेकिन पहले OPSEK नामक एक नए रूसी अंतरिक्ष स्टेशन के निर्माण के लिए रूसी खंड के तत्वों का उपयोग करने का प्रस्ताव दिया है । यह रुसी स्पेस स्टेशन 2030 तक संचालित होने की उम्मीद है।

पहला ISS घटक 1998 में लॉन्च किया गया था, जिसमें पहले दीर्घकालिक निवासी 2 नवंबर 2000 को आए थे। तब से, स्टेशन 19 वर्षों और 176 दिनों तक लगातार कब्जे में रहा है। मीर द्वारा आयोजित 9 साल और 357 दिनों के पिछले रिकॉर्ड को पार करते हुए, यह  पृथ्वी की कक्षा (लौ अर्थ ऑर्बिट) में सबसे लंबी निरंतर मानव उपस्थिति है।

ISS सोवियतों द्वारा स्थापित किये जाने वाला नौवां अंतरिक्ष स्टेशन है, जो सोवियत और बाद में रूसी साल्युट, अल्माज़ और मीर स्टेशनों के साथ-साथ अमेरिका से स्काईलैब के बाद आता है। स्टेशन पर विभिन्न प्रकार के अंतरिक्ष यान आते हैं: रूसी सोयुज और प्रोग्रेस, यूएस ड्रैगन और सिग्नस, जापानी H-II ट्रांसफर व्हीकल और पूर्व में यूरोपियन ऑटोमेटेड ट्रांसफर व्हीकल।

भारत के स्पेस स्टेशन होने के फायदे ;
  • भारत की ना केवल अंतरिक्ष में बल्कि पृथ्वी में भी निगरानी की क्षमता कई गुनी बढ़ जाएगी।
  • भारतीय साइंटिस्ट के लिए सुनहरा मौका होगा स्पेस में एक्सपेरिमेंट के लिए।
  • दुश्मन देशो में आसानी से निगरानी राखी जा सकती है।
  • अंतरिक्ष में बार बार निगरानी रखने के लिए उपग्रह भेजने की जरुरत नहीं रह जाएगी जिससे स्पेस खर्च में भी कमी आयेगी।
  • दुनिया में स्पेस पावर में भारत के पकड़ और मजबूत होगी।


इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन कैसे देखे ?

आप अपने गूगल स्टोर से ISS हद Live app डाउनलोड कर लीजिये और अपनी लोकेशन चालू  कर लीजियेगा फिर जब फिर स्पेस स्टेशन आपकी लोकेशन पर आने वाला होगा तो वो आपको नोटिफिकेशन दे देगा जिससे आप उस सही समय पर अपनी चाट के ऊपर से उसे देख पाएंगे।
इस एप में और अभी बहुत चीज़े है आप खुद चलाये समझ जायेंगे बहुत एडवेंचर और मनोरंजित कर देने वाला है।

नोट :-अधिक जानकारी के लिए कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट करें 

Thursday, April 23, 2020

मार्केट गाइड सुरक्षित निवेश प्लान , अपने धन को कैसे सुरक्षित योजनाओ में निवेश करें।


Safe_Investment_Plan_SIP

कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जारी देशव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर अर्थव्यवस्था में भारी मंदी की आंशका जताई जा रही है। Link इस दौर में है निवेशकों के सामने सबसे बड़ी चुनौती यही है कि वह अपने निवेश को सुरक्षित कैसे रखें और निवेश कहां करें। एक आम निवेशक के लिए सामान्य टिप्स:

गोल्ड ;
इस समय निवेश का बेहतरविकल्प गोल्ड है। अपने कुल निवेश का कम
से कम 10 से 20 फीसदी सोने में निवेश करें। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (एसजीबी) सबसे अच्छा
विकल्प है, सरकार ने अप्रैल से सितम्बर तक 6 बार सॉवरेन बॉन्ड जारी करने का फैसला लिया है।  ये बॉन्ड सितम्बर तक 6 किस्तों  में जारी किये जायेंगे। ये बैंको और बड़े डाक घरों से बेचे जा सकेंगे। रिज़र्व बैंक ने अप्रैल माह में बेचे जाने वाले गोल्ड बॉन्ड की कीमत 4639 रुपए प्रति ग्राम तय की है। स्कीम में कम  से कम 1 ग्राम सोना इन्वेस्ट किया जा सकता है। एक व्यक्ति के लिए सोना निवेश करने की अधिकतम सीमा 4 किलो है। लेकिन आप चाहें तो इसे सेकेंडरी मार्केट (स्टॉक एक्सचेंज) में खरीद  सकते हैं। इसके अलावा आप गोल्ड ईटीएफ में भी निवेश कर सकते हैं। फिजिकल फॉर्म (आभूषण इत्यादि) में गोल्ड खरीदना निवेश के नजरिए से बेहतर विकल्प नहीं है।

छोटी बचत योजनाएं ;
2020-21 की पहली तिमाही के लिए ब्याज में भारी कटौती के बावजूद मौजूदा हालात में
छोटी बचत योजनाएं उन निवेशकों के लिए बेहतर विकल्प हैं, जो बिल्कुल भी जोखिम
उठाना नहीं चाहते। छोटी बचत योजनाओं में पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि योजना, सीनियर
सिटीजन सेविंग स्कीम और नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट VIII इश्यू (एनएससी) प्रमुख हैं और साथ ही टैक्स बचाने में भी मदद मिलती है।

आरबीआई सेविंग बॉन्ड :
आरबीआई सेविंग बॉन्ड भी इस समय निवेश के लिए बेहतर विकल्प हैं। सरकार द्वारा जारी
होने के कारण ये बेहद सुरक्षित हैं। साथ ही इन पर फिक्स्ड 7.75 फीसदी ब्याज भी मिलता है, जो अधिकांश बैंक की एफडी रिटर्न से अधिक है। बॉन्ड का लॉक-इन पीरियड (मैच्योरिटी) - इसके जारी होने की तारीख से सात साल है।
160 साल या इससे ज्यादा उम्र के लोगों को 5 प्रीमैच्योर रिडेम्पशन की भी सुविधा है।

भारत बॉन्ड ईटीएफ; 
फिक्स्ड इनकम  इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश को तरजीह देने वाले
न निवेशक, सरकार की नई स्कीम भारत बॉन्ड  ईटीएफ में भी निवेश कर सकते हैं। इस स्कीम  में अंडरलाइंग एसेट के तौर पर सिर्फ AAA क्रेडिट रेटिंग वाली पब्लिक सेक्टर की कंपनियों के बॉन्ड को ही शामिल किया जा सकता है।
यह विश्वसनीयता की सबसे ऊंची रेटिंग होती है। इसलिए इस स्कीम में डिफॉल्ट का जोखिम नहीं के बराबर है।

शेयर बाजार/सिप;
 
कोरोनावायरस की वजह से घरेल व वैश्विक अर्थव्यवस्था में भारी मंदी की आंशका की वजह से इक्विटी में निवेश को लेकर सावधान रहें। अगर पहले
से सिप (सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) के जरिए निवेश कर रहे हैं तो उसे जारी रखना
चाहिए। इस समय चुनिंदा लार्ज कैप फंड व एग्रेसिव हाइब्रिड फंड में ही निवेश करना
बेहतर होगा, वह भी सिप के जरिए। लार्ज कैप इक्विटी फंड में निवेश कम जोखिम भरा
है। निवेश अवधि लंबी मसलन कम से कम 7-10 साल के लिए होनी चाहिए।

Wednesday, April 22, 2020

चाइनीज ऐप टिक टोक का विकल्प और भारत के बेस्ट सोशल मीडिया वीडियो बनाने वाले ऐप्स जानें।

Indian_Social_Media_Video_maker_App
भारतीय बेस्ट सोशल मीडिया वीडियो मेकर ऐप्स

हम लोग तो यहाँ बात करते है भारत की , भारत महान की , दुसरो को सलाह देते है भारत की चीज़े इस्तेमाल करने के लिए , विदेशी ऐप्स, बस्तुए के वहिष्कार की।
सबसे अच्छा उदाहरण है दीवाली का जब दीवाली आती है लोग राष्ट्र भक्ति में लग जाती है और कहते है चीनी चीज़े जैसे झूमर , LED, झालर , दिये, फटाके  आदि देशी ही ले जिससे अपने देश के लोगो का पेट भर सके , गरीब मजदूर वर्ग रोजी रोटी कमा सके , उनके पेट में हम लात क्यों मारे।

चीन का भारत के व्यापार में दबदवा है क्योकि चीनी सामान भारत की तुलना में सस्ता है पर याद रखिये "सस्ता चले एक बार , देशी चले सालो साल " और लोग इस तरफ आकर्षित भी हो रहे है क्योकि सत्य तो ये है हमारे देश में गरीब मजदूर वर्ग ज्यादा है वो मिटटी के दिये बनाते है आप चीनी दिए जैसे दिखने वाली लाइट दे आते हो जिसका रामनवमी दीवाली में भारतीय त्यौहार के हिसाब से कोई महत्व नहीं है। इससे न केवल आप अपने भारतीय परंपरा का अपमान कर करे हो वल्कि भारतीय का भी पेट मार रहे हो।

परन्तु  ये अच्छा है की यहाँ के नागरिक देशवासी जागरूक हो रहे है और भारतीय प्रोडक्ट सामान में अपनी रूचि दिखा रहे है।  कुछ हमारे यहाँ कमी भी है जो हम नहीं कर पा रहे है ऐसे प्लेटफार्म अभी भी देशवाशियों को नहीं दे पा  रहे है जैसे जरुरत है जिसके जी भारत सरकार ने स्टार्टअप इंडिया , मेक इन इंडिया अभियान के तहत भारतीयों को अपनी रूचि Link दिखने के लिए अच्छा मौका दिया है इसके तहत लोन भी दिए जा रहे है ,ज्यादा जानकारी के लिए आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके इनफार्मेशन प्राप्त कर सकते है।Work from Home

अब मुद्दे की बात करते है ,लोगो को ये तो पता ही की चीनी सामान का वहिष्कार करना है स्वदेशी अपनाना है , और स्वतंत्रता दिवस पर भी अपनी फीलिंग्स देश के प्रति देखते है मगर किस्से ????

जी है वही चीनी ऐप्स टिक टोक से वो भी बड़ी शान से जबकि उनको ये पता होता है की ये चीनी ऐप है क्योकि उस समय को देशभक्ति कम अपना प्रचार ज्यादा करते है। कुछ तो शर्म करो क्या आपको पता है इस चीनी एप का अप्रैल 2019 में प्रतिबंध लग चूका था तब  नए उपयोगकर्ता गूगल प्ले स्टोर या एप्पल स्टोर से  भी उसे डाउनलोड नहीं कर सकते थे जाने क्या है हकीकत ;

"मद्रास उच्च न्यायालय ने 3 अप्रैल 2019 को केंद्र को निर्देश दिया कि वह इस तरह के ऐप के माध्यम से "अश्लील और अनुचित सामग्री" उपलब्ध कराए जाने की चिंता में टिकटोक पर प्रतिबंध लगता है ।" यह अंतरिम प्रतिबंध था।

इस आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी, और सुप्रीम कोर्ट ने प्रतिबंध हटाने से इनकार कर दिया और मद्रास उच्च न्यायालय को समय पर मामले पर फैसला करने के लिए कहा। बाइटडांस, टिकटोक के निर्माता ने अपने नियंत्रणों पर मद्रास उच्च न्यायालय को अपनी प्रस्तुतियाँ दीं और टिक्कॉक के माध्यम से रिलेटेड पोर्नोग्राफिक और अनुचित सामग्री को रोकने के लिए कहा।
इसके बाद, मद्रास उच्च न्यायालय ने प्रतिबंध हटा दिया है, और टिक्कॉक को अब भारत में प्रतिबंधित नहीं किया गया है।
ये तो बड़े लोग है प्रतिबन्ध हटवा लेंगे पर आप अपने वीडियो फोटोज निजी जानकारी के दुरूपयोग का तो ध्यान रखे।

आपको पता है भारतीय गृह मंत्रालय से अभी 16 पन्नो की एडवाइजरी में चीनी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप्स ज़ूम को ना इस्तेमाल करने की सलाह दी है , ज्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.newscurrent.org/2020/04/blog-post_21.html
अभी कोरोना वायरस रैपिड टेस्ट किट जो की 5 लाख चीन से आयी है उसको भी भारत सरकार को अभी  इस्तेमाल ना करने की एडवाइजरी जारी की है।
मेरा सीधा  कहना है ये सब चीन के साथ ही क्यों होता है और भी तो देश है उनके साथ नहीं बाकि आपकी जैसे इच्छा।
यहाँ कुछ अच्छे  वीडियो बनाने और साझा करे के ऐप्स दिए जा रहे है जिसे आप टिक टोक के विकल्प के रूप में उपयोग कर सकते है :-

1. LIKE: Magic Video Maker & Community  
इस एप्लिकेशन में डायलाग  सामग्री का विशाल संग्रह है। इसमें मौजूद गाने से आप अपने वीडियो को  समाहित कर सुन्दर बना सकते है।  इसमें इनबिल्ट संगीत जादू फिल्टर होते हैं जो आपके वीडियो को आटोमेटिक अच्छा बनाने में आपका सहयोग करते है जिसके लिए आपको  स्वचालित रूप से फ़िल्टर लागू करना होता  हैं। आप अपने फुटेज को धीमा या तेज कर सकते है । यहां तक ​​कि यह ऐप आपको कई वीडियो क्रॉप / ट्रिम और मर्ज करने की भी अनुमति देता है। LIKE एक नए समुदाय / लोगो को शुरू करने के लिए एक शानदार जगह है जहाँ आप अपने आप को शानदार संगीत की  विभिन्न स्वरुप देख  पाएंगे। आप अपने  वीडियो को अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि  में  साझा कर सकते हैं।

2. Vigo Video:
यह एक शॉर्ट वीडियो मेकर ऐप है, जहां आप शॉर्ट फनी वीडियो बना सकते हैं। एप्लिकेशन आपको 15 सेकंड में गायन, नृत्य, कॉमेडी, खाना पकाने, कला, सौंदर्य, आदि द्वारा अपनी प्रतिभा दिखाने की अनुमति देता है। यह एक नए स्नैपचैट की तरह है लेकिन कई अन्य विशेषताओं के साथ। अपने वीडियो को आकर्षक बनाने के लिए एनिमेटेड स्टॉकरों और विशेष प्रभावों को जोड़ें। एक वास्तविक समय का कैमरा भी उपयोगकर्ताओं को जादुई तरीके से उनकी खाल को चिकना करने की अनुमति देता है और रिकॉर्डिंग करते समय उनकी आंखों को चौड़ा करता है, ब्लेमिश और अवांछित धब्बों को हटाता है और त्वचा को टोन करता है। आपके साथी , दोस्त परिजन  आपके साथ लाइव स्ट्रीमिंग करने में सक्षम हैं, इससे आप विभिन्न क्षेत्रों के लोगों से मिल सकते हैं और अपने सामान्य हितों के बारे में बात कर सकते हैं। यदि आप अपने पास सही प्रकार के लोग हैं तो आप अपने वीडियो को ठीक से प्रचारित कर सकते हैं। इस एप से आप ऑनलाइन पैसे भी कमा सकते है।

3. KWAI: Social Video Community  
इस ऐप के माध्यम से, आप reward जीतने  के साथ-साथ दुनिया भर से लाखों प्रशंसकों का मन भी जीतने में सक्षम होंगे। KWAI के साथ, आप विभिन्न टेक्स्ट फोंट, एनिमेटेड फिल्टर, डायनेमिक स्टिकर्स और 4D मोशन इफेक्ट्स में वीडियो एडिट कर सकते हैं। इस ऐप के माध्यम से, आप ट्रिमिंग, कटिंग, क्रॉपिंग, मर्जिंग, स्टिचिंग और अधिक जैसे एडवांस  वीडियो संपादन सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं। अन्य ऐप्स की तरह, आप अपनी पसंदीदा मूवी लाइन, म्यूजिक वीडियो, गाने और ड्रामा के लिए लिप सिंक कर सकते हैं। अपने व्यक्तिगत समाचार फ़ीड पर ट्रेंडिंग वीडियो देखें जैसे हॉट ट्रेंडिंग वीडियो, कॉमेडी और प्रैंक वीडियो, लिप सिंक और डब, फैशन और सौंदर्य, गायन, नृत्य, जादू और बहुत कुछ। ऐप नियमित रूप से विशेष कार्यक्रम, नृत्य लड़ाई और मजेदार चुनौतियों की मेजबानी करता है।  अन्य ऐप्स की तरह, आप अन्य मित्रों की मदद का उपयोग कर सकते हैं और अपनी संगीत पसंद के अनुसार एक समुदाय बना सकते हैं। यह ऐप एंड्रॉइड के साथ-साथ iOS दोनों में उपलब्ध है।

4. MV Master - Video Status Maker
आप दोस्तों, परिवार और खुद के लिए वीडियो बना सकते हैं।
एमवी मास्टर केवल 3 चरणों के साथ आपकी तस्वीरों को शानदार दिखने वाले वीडियो क्लिप में बदलने के लिए आदर्श वीडियो निर्माता उपकरण है।  अपने मज़ेदार और आसान वीडियो टेम्प्लेट के साथ, आप तुरंत शानदार प्रभावित , शानदार फ़िल्टर और लोकप्रिय विषयों के साथ एक स्पार्क वीडियो में अपने जीवन के क्षण को रिकॉर्ड कर सकते हैं! चेहरा बदलने, मैजिक फोटो, इमेज मैटिंग पर नई तकनीक का अनुप्रयोग आपको सोशल मीडिया में उत्कृष्ट बना सकता है। आप जल्दी से अपनी खुद की Instagram कहानियां बना सकते हैं और अधिक टिप्पणियां और पसंद प्राप्त कर सकते हैं ।

5. Firework:
यह वीडियो निर्माता ऐप एक और टिकटॉक विकल्प है जो वीडियो क्लिप को ट्रिम, मर्ज, कट और डुप्लिकेट करने के लिए संपादन टूल की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है। अन्य ऐप्स की तरह, आप म्यूजिक वीडियो, डांस वीडियो, लिप सिंक वीडियो और भी बहुत कुछ कर सकते हैं। आप संगीतकारों, कलाकारों, हास्य कलाकारों, एथलीटों, गायकों और बहुत से लोगों द्वारा साझा की गई अनूठी प्रतिभाओं के लिए नवीनतम डांसिंग उन्माद के माध्यम से जाने के लिए अपने व्यक्तिगत वीडियो फ़ीड के माध्यम से जा सकते हैं। साप्ताहिक रूप से आयोजित की जाने वाली वीडियो चुनौतियां हैं, जहां आप अद्भुत नकद पुरस्कार भी  जीत सकते हैं।

6. Funimate:
यह एप्लिकेशन इस अर्थ में TikTok से बहुत अलग है कि आप इस एप्लिकेशन के साथ किसी भी प्रकार के वीडियो बना सकते हैं। धीमी गति के वीडियो, वीडियो संकलन से लेकर वीडियो लूप तक, यह ऐप उपयोगकर्ताओं को कई विकल्प प्रदान करता है। आप ऐप के विशाल डिजिटल वीडियो लाइब्रेरी के माध्यम से अनगिनत लोकप्रिय गीतों तक पहुंच सकते हैं। वीडियो लाइब्रेरी का आकार इसे उन सभी टीकटोक उपयोगकर्ताओं के लिए स्विच करने के लिए एक आदर्श ऐप बनाता है जो वीडियो का एक बड़ा संग्रह चाहते हैं। 20 से अधिक उन्नत वीडियो प्रभावों के साथ, यह ऐप वायरल वीडियो बनाने के लिए उपयुक्त है। Funiamte भी आप अपने दोस्तों के साथ एक क्लिप में अपने दोनों चरणों के वीडियो विलय करने के लिए अनुमति देता है।

7. Triller :
यह ऐप एक और टिकटॉक विकल्प है और आपको एक वीडियो रिकॉर्ड करने की अनुमति देता है और ऑटो-एडिटिंग एल्गोरिदम आपके लिए बाकी काम करता है।  पूर्व कारण यह है कि ऐप का उपयोग करना इतना आसान है और मेनू को नेविगेट करने में आसान प्रक्रिया को कम बोझिल बनाता है। 50 अलग-अलग फिल्टर, वीडियो ड्रॉइंग और वीडियो को ट्रिमिंग / कटिंग के माध्यम से व्यक्त करके अपने भीतर के कलाकार को बाहर निकालें। ऐप में शानदार कोलाब वीडियो फीचर हैं, जिससे आप अपने दोस्तों के साथ शानदार वीडियो बना सकते हैं। ध्यान दें कि यह एक नेटवर्किंग एप्लिकेशन नहीं है क्योंकि यह केवल उपयोगकर्ताओं को अपने वीडियो को संपादित करने की अनुमति देता है, न कि एक समुदाय को शुरू करने के लिए। आप फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर जैसे अन्य सोशल मीडिया खातों में फ़ाइल साझा करने की सुविधा के साथ अपने वीडियो साझा करने में सक्षम होंगे।

इसके साथ और भी अन्य विकल्प है जैसे Dubsmash: Pioneer In Short Video Making, VMate ,UVideo आदि।
ज्यादा जानकारी और संवाद के लिए नीचे दिए हुए कमेंट बॉक्स में कमेंट करें।

Tuesday, April 21, 2020

ZOOM ज़ूम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप सुरक्षित नहीं , अन्य सर्वश्रेष्ठ ऐप्स उपयोग करे।


Video_Confrencing_App
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप ज़ूम के अलावा अन्य विकल्पित ऐप्स 

गृह मंत्रालय ने 16 अप्रैल 2020 जूम ऐप के उपयोगकर्ताओं को चेतावनी दी है कि वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग एप्लिकेशन उपयोग के लिए सुरक्षित नहीं है।

"गृह मंत्रालय के साइबर समन्वय केंद्र (CyCord) ने 16 पन्नो की रिपोर्ट में  कहा, "ज़ूम एक सुरक्षित मंच नहीं है।"

एजेंसी ने बताया कि ऐप में महत्वपूर्ण कमजोरियां हैं जो उपयोगकर्ताओं को साइबर हमलों के लिए संवेदनशील बना सकती हैं, जिसमें अपराधियों को संवेदनशील  जानकारी का मिल सकती है।  कई अन्य देशों ने भी इस ऐप की सुरक्षा के बारे में चिंता व्यक्त की है। जर्मनी, सिंगापुर और ताइवान ने पहले ही ज़ूम एप  पर रोक लगा दी है।

लौकडाउन में वर्क फ्रॉम होम कल्चर से कई एप्स बहुत फायदेमंद सावित हो रहे है ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे. https://www.newscurrent.org/2020/04/would-company-adopt-work-from-home.html  , जिससे वर्क फ्रॉम होम की लोकप्रियता न केवल प्राइवेट सेक्टर में अपितु सरकारी क्षेत्र में भी बढ़ रही है।

दूर बैठे अधिकारियो  कर्मचारियो से सामूहिक मीटिंग कॉन्फ्रेंसिंग करने के लिए चीन का ज़ूम ऐप बहुत ही बहुत ही फायदेमंद सावित हो रहा था क्योकि इसमें एक समय में 100 लोग एक साथ जुड़ कर वीडियो मीटिंग में भाग ले सकते है ,इसके अलावा इसमें वीडियो रिकॉर्डिंग ,स्क्रीन शेयर  की सुविधा भी है  और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान चैट (बहुभाषा में ) सुविधा भी उपलब्ध है।  साथ ही यह एप बिलकुल फ्री है इसी कारण से छोटी- बड़ी, सरकारी, प्राइवेट सभी कंपनी इसे इस्तेमाल कर रही है। 

नई सलाह में, MHA (Ministry of Home Affairs) ने उपयोगकर्ताओं से कहा है जो अभी भी ज़ूम का उपयोग करना चाहते हैं, वो सुरक्षा उद्देश्य के लिए कुछ दिशानिर्देशों का पालन जरूर करे -
  •  सभी मीटिंग के लिए नयी आईडी पासवर्ड बनाये।
  •  ऐप में एक वेटिंग रूम बनाएं ताकि एक उपयोगकर्ता मीटिंग में तभी प्रवेश कर सकेगा जब होस्ट उसे अनुमति देगा।
  •  होस्टिंग से  पहले ज्वाइन फ़ीचर को डिसेबल करें।
  •  होस्ट को ही  केवल स्क्रीन शेयरिंग की अनुमति।
  •  "हटाए गए प्रतिभागियों को फिर से जुड़ने की अनुमति " डिसेबल करें।
  •  फ़ाइल स्थानांतरण को प्रतिबंधित करें।
  •  जब सभी प्रतिभागी मीटिंग में शामिल हो जाये तब मीटिंग को लॉक कर दे।
  •  रिकॉर्डिंग फीचर को बंद कर दे।
  •  मीटिंग समाप्त करने के लिए (सिर्फ एप छोड़ना नहीं है , यदि आप एक एडमिस्ट्रेटर  हैं)

मतलब आपको हर वो फीचर को बंद या डिसअलौउड़ कर देना है जिससे डाटा लीक या हैक होने की संभावना हो पर सही कहु तो इतनी टेंशन लेना ही क्यों कुछ और उपयोग करते है पर क्या ?

ज़ूम एप के सीईओ और संस्थापक एरिक युआन एक चीनी अमेरिकन है, उन्होंने अपनी अपनी पढ़ाई चीन से की.  USA ने उनका वीसा एप्लीकेशन आठ  बार रिजेक्ट किया। 
न्यूयॉर्क स्टेट अटॉर्नी जनरल लेटिटिया जेम्स ने ज़ूम की गोपनीयता की जांच शुरू की , उन्होंने पाया ज़ूम एप से हुयी मीटिंग के अंश इंटरनेट पर मौजूद है , कैसे इसकी जाँच की जा रही है और इसी बीच ज़ूम फाउंडर एरिक युआन ने माफ़ी भी मांग ली है और जल्द ही इसे ठीक करने का आश्वासन दिया है। 
ब्रिटैन में ज़ूम एप से हुयी कैबिनेट मीटिंग के भी फुटेज इंटरनेट में पाए गए ,ज़ूम का  ऐप में चीन का सर्वर का इस्तेमाल होते पाया गया है। अमेरिका ने तो इस एप पर मुक़दमा भी दायर कर दिया है , सिंगापूर , जरमनी ने भी इसे प्रतिबंधित कर दिया है। 
गूगल ,स्पेस एक्स एजेंसी ने भी इसे बैन कर दिया है। साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट ने बया की इस एप से यूजर का डाटा रिस्क है साथ ही  वेबकेम के साथ माइक्रोफोन भी हैक किया जा सकता है। 

 भारत के पास अपना स्वदेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एप्स नहीं है जो ज़ूम जैसे या उससे भी अच्छी सुविधा प्रदान कर सके इसलिए भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स & इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी मंत्रालय के वीडियो  कॉंफ्रेंसिंग ऐप बनाने के लिए "इनोवेशन चैलेंज " कम्पलीटिशन ऑर्गनाइज़ किये है जिसे जितने वाले प्रतिभागी को 1 करोड़ की प्राइज मनी ,साथ  ही 4 साल के लिए राज्य और केंद्र सरकार के साथ अनुबंध और अगले 3 वर्षो में ऑपरेशन & मेन्टेन्स के लिए 10 लाख प्रतिवर्ष की राशि राखी है ज्यादा जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करे https://www.newscurrent.org/2020/04/1.html

खैर हम दूसरे सुरक्षित एप की बात करते है , चायनीस एप ज़ूम के अलावा जो हमें अच्छे फीचर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिग की सुविधा दे ;

बेस्ट वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एप्लीकेशन :

1. से नमस्ते Say Namate - मुंबई की कंपनी ने हॉल ही में यह एप्लीकेशन टूल तैयार किया है जिसकी मार्केट में बहुत डिमांड है इस समय परन्तु यह एप नहीं है वेब ब्राउज़र एप्लीकेशन है जिसका एप एंड्राइड और ios version अगले सप्ताह तक आ सकता है जिसे आप गूगल और एप्पल स्टोर से डाउनलोड कर सकते है।
फ़िलहाल इस लिंक  पर क्लिक करके आप Say Namate वेब ब्राउज़र ओपन कर सकते है।

2. Google Hangouts
यह ज़ूम का एक विकल्प है जिसे गूगल एप स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड कर सकते है।  10 प्रतिभागियों तक वीडियो कॉल कर सकते हैं या एक साथ 150 प्रतिभागियों तक चैट कर सकते हैं। Google उत्पाद होने के नाते, Hangouts को आपको आरंभ करने के लिए बस अपने Gmail खाते की आवश्यकता होती है। यदि आप भुगतान करने के विकल्प पर जाते हैं, तो आप 25 प्रतिभागियों तक वीडियो कॉल की सीमा बढ़ा सकते हैं।

3. डिस्कॉर्ड Discord
डिस्कॉर्ड ज़ूम के लिए एक मजबूत विकल्प के रूप में भी उभरा है, इसकी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग क्षमता एक साथ 50 प्रतिभागियों से जुड़ने की अनुमति देता है। यह प्लेटफ़ॉर्म गेमर्स के बीच लोकप्रिय है जैसे जो लोग पुबजी ,फ्री फायरआदि गेम खेलते या देखते है वो लोग अधिकांश इससे जुड़े होते है , हालांकि आप इसे अपने कार्यालय टीम या कुछ दोस्तों के साथ संवाद करने के लिए एक उपकरण के रूप में उपयोग कर सकते हैं। आप अपने स्मार्टफोन का उपयोग करके अपने संपर्कों से जुड़ने के लिए इसका मोबाइल ऐप भी डाउनलोड कर सकते हैं। आपकी स्क्रीन साझा करने या वॉयस कॉल करने की सुविधाएँ भी हैं। जूम के अन्य मुफ्त विकल्पों की तरह, डिस्कॉर्ड बिना किसी लागत के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग प्रदान करता है। आपको बस अपने वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के साथ शुरुआत करने के लिए डिस्कॉर्ड साइट या उसके ऐप के माध्यम से साइन अप करना होगा।

4. Cisco Webex
सिस्को सभी देशों में अपने वेबेक्स मीटिंग्स की मुफ्त पहुंच प्रदान कर रहा है। मुफ्त में उपलब्ध होने के बावजूद, आपको सभी उद्यम सुविधाएँ मिलेंगी जिनमें बिना समय के प्रतिबंध के साथ असीमित उपयोग, 100 प्रतिभागियों के लिए समर्थन और वॉयस-ओवर-इंटरनेट-प्रोटोकॉल (वीओआईपी) क्षमताओं के अलावा एक टोल डायल-इन शामिल है। आप सभी की जरूरत सिस्को Webex पोर्टल पर साइन अप करके वीडियो  मीटिंग  शुरू कर सकते है। कुल मिलाकर, सिस्को द्वारा पेश किया गया Cisco Webex का अनुभव ज़ूम के साथ तुलना करने पर कहीं सीमित नहीं है।

5. Skype Meet Now
उन उपयोगकर्ताओं के लिए जो सिस्को वेबेक्स जैसे अत्यधिक उद्यम-केंद्रित समाधान के साथ नहीं जाना चाहते हैं, माइक्रोसॉफ्ट ने हाल ही में स्काइप मीट नाउ लाया जो ज़ूम के विकल्प के रूप में कार्य करता है। यह एक खाते की आवश्यकता के बिना काम करता है और 50 प्रतिभागियों तक का समर्थन करता है - वो भी सभी मुफ्त में। आपको कॉल रिकॉर्ड करने की क्षमता, कॉल करने से पहले ब्लर बैकग्राउंड और स्क्रीन शेयरिंग जैसी सुविधाएं भी मिलेंगी। इसके अलावा, आपको स्काइप मीट नाउ से शुरुआत करने के लिए बस समर्पित वेबपेज पर जाना होगा।

6. Microsoft team
यदि आप केवल वीडियो कॉल के अलावा और भी विकल्प  जाते हैं, तो  आप Microsoft टीम में देख सकते हैं। यह महामारी के दौरान मुफ्त में भी उपलब्ध है। मुफ्त संस्करण असीमित चैट , खोज, समूह और एक-पर-एक ऑडियो और वीडियो कॉलिंग, और प्रति व्यक्ति 2GB व्यक्तिगत फ़ाइल भंडारण के साथ 10GB टीम फ़ाइल भंडारण लाता है। यदि आपके पास पहले से ही Office 365 खाता है, तो आपको Word, Excel, PowerPoint और OneNote सहित वेब के लिए Office ऐप्स के साथ एक समय में इसका उपयोग कर सकते है ।

7. माइक्रोसॉफ्ट मीट Microsoft Meet
इस ऐप के माध्यम से, टीम के सदस्यों से निजी या विशिष्ट चैनलों पर बात की जा सकती है। ऐप एक बार में 250 लोगों के साथ वीडियो चैट करने की अनुमति देता है। वीडियो मीटिंग टीम ऐप या आउटलुक के माध्यम से निर्धारित की जा सकती हैं।

इसके अलावा और भी विकल्प पर आप जा सकते है जैसे गूगल ड्यूओ (12 लोगो के साथ वीडियो कॉल ),Slack (15  लोगो के साथ वीडियो कॉल  पर पेड प्लान ), फेसबुक मैसेंजर (08  लोगो के साथ वीडियो कॉल ) ,गो टू  मीटिंग आदि के साथ जा सकते है आप।


गरीब,लावारिस व असहायों का मसीहा - मोक्ष संस्थापक श्री आशीष ठाकुर । (Part-01)

गरीब,लावारिस व असहाय लोगों का मसीहा - मोक्ष संस्थापक श्री आशीष ठाकुर । छू ले आसमां जमीन की तलाश ना कर , जी ले जिंदगी ख़ुशी की तलाश ना कर , ...